यह चित्र मुज़फ़्फ़रपुर की आत्मा कही जाने वाली सरैयागंज टावर की है जो खुद को मुज़फ़्फ़रपुर के पहचान से जाने जाती है।

हम ऐ नही बता सकते की ऐ तिरंगा कितने दिन से है इस पर। मगर अभी जो चित्र लिया गया है उसमें यह स्पष्ट दिख रहा है कि तिरंगा झुका हुआ है। जब की पुलिस गार्ड बग़ैरह हरदम उस टावर के नीचे अपनी ड्यूटी कर रहे होते है।
अभी तक किसी का भी ध्यान इस ओर नही गया।

Previous articleमुज़फ़्फ़रपुर सुगौली वाल्मीकिनगर रेलखंड के दोहरीकरण का प्रधानमंत्री करेंगे शिलान्यास
Next articleकोचिंग संचालकों ने’भविष्य’ के कंधों पर लाद दिया भविष्य संवारने का बोझ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here