दबाव के बाद बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन ने निजी बसों के किराये में पुन: संशोधन किया है। फेडरेशन ने मंगलवार को बैठक कर कुछ मार्गों पर किराये में पांच से 15 रुपये की कमी की है। पटना, सीतामढ़ी, मोतिहारी, बेतिया, रक्सौल, बेगूसराय सहित कई रूटों पर किराये में कमी की गई है। फिलहाल, इसपर परिवहन विभाग के मुख्यालय से मुहर नहीं लगी है।

इससे पहले फेडरेशन ने 25 सितंबर को बैठक कर डीजल व टैक्स में हुई बढ़ोतरी को लेकर एक अक्टूबर से बस किराये में 20-35 प्रतिशत तक की वृद्धि का फैसला लिया था। फेडरेशन के अध्यक्ष उदयशंकर प्रसाद सिंह ने बताया कि कुछ रूटों पर बसों के किराये में कमी की गई है।

Advertise, Advertisement, Muzaffarpur, Branding, Digital Media

सोमवार को पटना में संयुक्त परिवहन आयुक्त के साथ बैठक के बाद इसपर फैसला लिया गया है। उन्होंने बताया कि भाड़े में वृद्धि पूरी तरह विभाग के जारी दिशा-निर्देश के अनुसार ही हुई है। उन्होंने बताया कि संशोधित भाड़े की सूची भी मुख्यालय को भेजी जाएगी।

गौरतलब है कि परिवहन विभाग के वरीय अधिकारी ने भाड़ा वृद्धि के प्रस्ताव को विभागीय स्वीकृति से इंकार किया था।

इस साल दो बार बढ़ा निजी बसों का किराया

बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन की ओर से इस साल बस भाड़े में यह दूसरी बार बढ़ोतरी की गई। इससे साल भर में ही बसों का किराया डेढ़ से दोगुना हो गया। एक तरफ फेडरेशन का कहना है कि परिवहन विभाग की ओर से जारी नोटिफिकेशन के आलोक में ही किराये में वृद्धि की गई है। वहीं, दूसरी ओर इसको लेकर विभाग की ओर से कोई सूचना अभी सार्वजनिक नहीं की गई है। पांच अक्टूबर तक मांगी आपत्ति परिवहन विभाग ने पांच अक्टूबर तक आम जनता से बस भाड़े में बढ़ोतरी के प्रस्ताव पर आपत्ति मांगी है। इस आपत्ति के अनुसार विभाग भाड़े की बढ़ोतरी पर निर्णय कर नोटिफिकेशन जारी करेगा।

 

संशोधित किराया मुजफ्फरपुर से नन एसी एसी : पटना 110 140 हाजीपुर 90 120 सीतामढ़ी 80 100 भीठामोड़, सोनबरसा 130 150 बेतिया, रक्सौल 160 190 मोतिहारी 100 120 बेगूसराय 120 

Input : Live Hindustan

 

Previous articleबालिका गृहकांड में सीबीआई करा रही शमशान घाट की खुदाई
Next articleमुजफ्फरपुर: मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना में मची लूट-खसोट, मनमाने ढंग से हो रही राशि की निकासी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here