अपने देश मे सबसे कम उम्र में फांसी पर चढ़ने वाले क्रांतिकारी के उपेक्षित और खतरे में परे चिताभूमि को बचाने के लिए शहीद खुदीराम बोस चिताभूमि बचाओ अभियान समिति के संयोजक  पिंकु शुक्ला ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर किया है। पटना उच्च न्यायालय के अधिवक्ता डा० अंजनी प्रसाद सिंह ने समिति के संयोजक शशिरंजन शुक्ला की ओर से दायर जनहित याचिका में ऐतिहासिक धरोहर को सुरक्षित एवं सौंदर्यीकरण करने पर जोर दिया है। डा० अंजनी प्रसाद सिंह ने बताया कि पटना उच्च न्यायालय में जनहित याचिका स्वीकार हो गई है। आगे के कार्यवाई के लिए मुख्य न्यायाधीश के पास सुनवाई पर रखा गया है।

Khudi Ram Bose, Muzaffarpur

अधिवक्ता ने बताया कि की हाईकोर्ट ने स्थानीय प्रशासन से चिताभूमि के सम्बंध में ताजा जानकारी की मांग की है। समिति के संयोजक शशिरंजन उर्फ पिंकु शुक्ला ने कहा कि लगभग छह वर्षों से चिताभूमि को बचाने का प्रयास समिति कर रहा है। डीएम से लेकर सीएम तक इसकी जानकारी दी गई है चरणबद्ध आंदोलन चलाया गया लेकिन स्थानीय प्रशासन के उदासीन रवैये के कारण हाइकोर्ट के शरण में हमलोग गए है।

 

APPLY THESE STEPS AND GET ALL UPDATES ON FACEBOOK
Previous articleएमसीए में 2016 से पहले नामांकित छात्रों की भी होगी परीक्षा
Next articleबिहार का एक लाल जो मर गया कुवैत में! अभी तक कोई खबर नही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here