स्वर कोकिला लता मंगेशकर का निधन 92 साल की उम्र में मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल में 6 फ़रवरी 2022 हो हुआ था। लता दीदी को कोरोना पॉज़िटिव पाये जाने के बाद से आईसीयू में भर्ती कराया गया था। स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने अपने 7 दशकों से अधिक के करियर में 36 भाषाओं में 50 हज़ार से भी अधिक गाने गाये थे। भारतीय संगीत दुनिया में उनके अमूल्य योगदान के लिए उन्हें Queen of Melody, Voice of the Millennium, और Nightingale of India के नाम से भी जाना जाता था। लता मंगेशकर को भारत सरकार ने साल 1989 में ‘दादा साहब फाल्के पुरस्कार’ से सम्मानित किया था। उसके बाद साल 2001 में लता दीदी को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया गया ।

25 रुपये थी पहली कमाई

28 सितंबर 1929 को इंदौर मे जन्मी स्वर कोकिला लता मंगेशकर महज़ 13 साल की हीं उम्र में बॉलीवुड फ़िल्मों के लिए गाना गाने की शुरुआत कर दी थी। लता दीदी की पहली कमाई उस जमाने मे 25 रुपये थी। अपने कड़ी मेहनत के दम पर लता दीदी ने ना शिर्फ बॉलीवुड में अपना मुकाम बनाया, बल्कि वो दुनिया के उन चुनिंदा सिंगर्स में शामिल हैं जिन्होंने ज्यादा संख्या मे गाने गाये हैं। लता मंगेशकर का परिवार बहुत हीं साधारण था। इन्होने जब अपने सिंगिंग करियर की शुरुआत की थी तब इनके पास कुछ भी नहीं था।

 

स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने अपने करियर में केवल शोहरत हीं नहीं , बल्कि बेशुमार धन दौलत भी कमाई थी। बेशुमार दौलत होने के बावजूद भी वो बेहद साधारण सी ज़िंदगी जीती थीं।लता दीदी की लाइफ़स्टाइल बेहद सिंपल थी।

लग्ज़री कारों की शौकीन थी

लता दीदी को लग्ज़री गाड़ियों का बेहद शौक था। वे अपने गैराज में स्टाइलिश और बेहतरीन गाडियाँ रखती थी। उन्होने एक इंटरव्यू में कहा था कि, वो बेहतरीन और स्टाइलिश लग्ज़री गाड़ियों की शौकीन हैं। उन्होंने अपनी पहली कार माँ के नाम से इंदौर मे ख़रीदी थी। ये एक Chevrolet कार थी। इसके बाद उनके गैराज में Buick कार आई। तब उनके पास Chrysler कार भी थी। लता दीदी को यश चोपड़ा ने ‘वीरजारा’ फ़िल्म के म्यूज़िक रिलीज़ के समय एक बेहतरीन Mercedes कार गिफ़्ट की थी। ये मरसडीज़ कार आज भी उनके गैरेज में है।

क्रिकेट का भी बहुत शौक था

लता दीदी केवल लगजरी कार ही नहीं, बल्कि क्रिकेट की भी काफ़ी ज्यादा शौक़ीन थीं। 90 साल की उम्र में भी वो भारतीय क्रिकेट टीम का कोई भी मैच मिस नहीं करती थीं। उन्हे क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर बेहद पसंद थे। लता मगेशकर ने कभी शादी नहीं की थी इसलिए वो अपने भाईयों और बहनों के बच्चों को ही अपना बच्चा मानती थीं। क्रिकेट के अलावा उन्हें ख़ूबसूरत साड़ियो के साथ महंगे ज्वेलरी पहनने का भी बेहद शौक था ।

लता दीदी की कमाई का जरिया

लता दीदी ने अपनी कड़ी मेहनत और लगन के दम पर अरबों रुपये की संपत्ति कमाई थी। उनके गानों से मिलने वाली रॉयल्टी को वो अलग अलग जगहो पर इन्वेस्ट किया करती थीं। उन्होंने अच्छा-खासा इंवेस्टमेंट किया हुआ था। इसके अलावा मुंबई में उनके कई सारे आलीशान बंगले भी हैं जिनसे उन्हें हर साल करोड़ों रुपये का किराया आता था। वो साउथ मुंबई के पॉश इलाके में से एक पेडर रोड स्थित ‘प्रभुकुंज भवन’ नाम के आलीशान बंगले में रहती थीं। इस आलीशान बंगले की क़ीमत लगभग 50 करोड़ रुपये से भी अधिक बताई जाती है।

लता मंगेशकर की कुल संपत्ति (Lata mangeshkar net worth)

एक रिपोर्ट्स के मुताबिक़, लता दीदी के पास 370 करोड़ रुपये यानि 3 अरब 70 करोड़ रुपये की संपत्ति थी। इनकी आखिरी समय में भी मासिक इनकम 40 लाख रुपये तथा सालाना इनकम तरकीबन 6 करोड़ रुपये थी।

Previous articleयूपी से मुजफ्फरपुर शराब की खेप लाने वालो को उत्पाद विभाग ने दबोचा
Next articleसीएम नितीश श्रीकृष्ण सेतु और घोरघट पुल का आज करेंगे लोकार्पण