मुज़फ़्फ़रपुर का एक ऐसा मुखिया जो आज भी अपने पारम्परिक कामो का नही भुला।

आपने नेता को कमीशनखोरी, दलाली एवं ठेकेदारी करते देखा होगा लेकिन दुसरो का दाढ़ी बनाते नहीं देखा होगा।

कहते है कि आज लोगो को अगर थोड़ी सी प्रसिद्धि और पद मिल जाए तो ओ घमंड से चूर हो जाता है और सामाजिक स्टेटस के दिखावे के चक्कर में अपने पारम्परिक कार्य को त्याग देता है।

mukhiya, muzaffarpur, bihar, runs, sallon

मगर मुज़फ़्फ़रपुर की धरती पर एक ऐसा लाल है जिसे मुखिया से ज़्यादा समाजसेकवक कहना अतिश्योक्ति होगा।एक ऐसा व्यक्ति जिसने समाज के हर भेदभाव वाले संघर्ष को करीब से देखा है और जिया है। जिसका लक्ष्य हमेशा से लोगो की सेवा रहा है।

ऐसे ही मुखिया है कुढ़नी प्रखंड के मोहम्मदपुर मुबारक पंचायत के मुखिया रामसेवक उर्फ गोरख ठाकुर जो आज भी लोगों का दाढ़ी बनाने का काम करते हैं ओ आज भी इस काम को करने से नहीं हिचकते। वही आज के कुछ नेताओं लोग को इन से सीख लेना चाहिए की काम कोई भी हो बड़ा और छोटा नहीं होता।

 

इनका कहना है कियह काम सदियों से हमारे पुरुख करते आ रहे है इसलिए इसे करने में हमें शर्म नही बल्कि गर्व होता है।

Previous articleबिहार के VIPs हैं नंबर वन, सुरक्षा में सालाना खर्च 141.95 करोड़
Next articleबिहार विवि छात्र संघ अध्यक्ष ने वीसी को दिया 8 दिन का अल्टीमेटम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here