सन ऑफ बिहार नाम से मशहूर VIP सुप्रीमो मुकेश साहनी ने मंगलवार को यह स्वीकार हीं लिया कि उन्हें अब एनडीए गठबंधन से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया हैं। फेसबुक पर पर लाइव आकर सहनी ने अपना दर्द बयां किया हैं।

मुकेश सहनी ने कहा कि, हमारी ताकत अब बढ़ रही थी। इसलिए सहयोगी दलों को बर्दाश्त नहीं हुआ। हमारी ताकत को देखते हुए सहयोगी दलों ने हमसे ही 11 सीटो पर समझौता किया था। उन्हें अब लगा कि इसकी और ताकत बढ़ेगी तो आने वाले समय मे 51 और 100 सीटों पर भी समझौता करना पड़ सकता है।

ताकत बढ़ाने के लिए गए थे यूपी

मुकेश सहनी ने अपने फेसबुक लाइव में कहा कि, हम अपनी ताकत बढ़ाने के लिए यूपी गए थे और वहाँ मजबूती से काम भी किया। यह लोगों को हजम नहीं हो पा रहा हैं। यूपी से जदयू पार्टी ने भी चुनाव लड़ा था, लेकिन जदयू के प्रति उन लोगों कुछ भी नहीं बोला। वीआईपी को लेकर लगातार बयानबाजी कर रहे है। हमको वे कमजोर समझ रहे हैं, इसलिए बोल रहे है।

काश लालू जी की बात मान लेता

सहनी ने आगे कहा कि, मुझे बहुत अफसोस हो रहा हैं कि उस दिन यदि लालू जी की बात मान लेता तो आज यह दिन नहीं देखना पड़ता। राजद पार्टी की तरफ से चार-चार मंत्री और डिप्टी सीएम बनाने का भी ऑफर था, लेकिन हमने उसे ठुकरा दिया। 12 राज्यपाल कोटे से छः एमएलसी बनना था, मुझे मिलना था, किन्तु उसे भी मैंने ठुकरा दिया। हमने एनडीए गठबंधन पर भरोसा जताया, हमने सीएम नीतीश कुमार पर भरोसा जताया, लेकिन आज क्या हो रहा हैं, यह सब आपके सामने हैं।

Previous articleबिहार की बेटी घर पर मशरूम उगाकर कर रही हैं लाखो की कमाई
Next article‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म पर बोले आमिर खान : हर हिंदुस्तानी को देखनी चाहिए यह फिल्म