मतलुपुर स्थित प्राचीन खगेश्वरनाथ मंदिर के पुर्ननिर्माण कार्य का रविवार को शिलान्यास हुआ। पुराने मंदिर की जगह पशुपतिनाथ मंदिर की तर्ज पर भव्य मंदिर का निर्माण किया जाएगा। नगर विकास व आवास मंत्री सुरेश शर्मा, महावीर मंदिर न्यास समिति के सचिव डॉ. किशोर कुणाल आदि ने निर्माण की आधारशिला रखी।

Baba Khageshwar Nath Templ, Mutlupur, Muzaffarpur, Bihar

इस अवसर पर मंदिर परिसर में सरस्वती प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा यज्ञ का आयोजन किया गया। पं. विश्वनाथ त्रिवेदी व मुख्य यजमान पारसनाथ त्रिवेदी ने भूमि पूजन कराया। इस दौरान नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने मंदिर परिसर में पूजा अर्चना की। उन्होंने मतलुपुर से मुजफ्फरपुर शहर तक सरकारी बस का परिचालन शीघ्र शुरू कराने की घोषणा की। वहीं डॉक्टर किशोर कुणाल ने कहा कि कहा समाज टूट रहा है। मंदिर व मठ के विकास से समाज को जोड़ने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि हर मठ-मंदिरों व घरों में अपने सामर्थय के अनुसार संगत व पंगत का आयोजन अनिवार्य रूप से करना चाहिए। तभी हमारे समाज और संस्कृति का निर्माण होगा। वहीं पूर्व कुलपति सह खगेश्वरनाथ मंदिर न्यास समिति के अध्यक्ष डॉ. गोपालजी त्रिवेदी ने निर्माण के बारे में विस्तार से बताया। मौके पर पूसा कृषि विवि के पूर्व कुलपति रमेशचंद्र श्रीवास्तव, श्याम नंदन ठाकुर, संजय ठाकुर, रमन त्रिवेदी, पूर्व अध्यक्ष नंदकुमार त्रिवेदी आदि थे।

Advertise, Advertisement, Muzaffarpur, Branding, Digital Media

पशुपति नाथ मंदिर की तर्ज पर मॉडल तैयार

नेपाल के काठमांडू स्थित पशुपतिनाथ मंदिर की तर्ज पर खगेश्वरनाथ मंदिर का मॉडल तैयार किया गया है। आर्किटेक्ट ई. ब्रजेश्वर ठाकुर ने मंदिर का डिजाइन तैयार किया है। श्री ठाकुर ने बताया कि नए प्रारूप को तैयार करने में कई महीने का समय लगा। मंदिर का काफी भव्य व आकर्षक डिजाइन तैयार किया गया है। पशुपति नाथ मंदिर की तर्ज पर डिजाइन तैयार किया गया है। वर्तमान मंदिर में स्थापित प्राचीन शिवलिंग को बिना कोई नुकसान पहुंचाए हुए नए मुख्य मंदिर का निर्माण कराया जाएगा। मंदिर भूकंपरोधी होगा। 2019 तक मंदिर निर्माण का लक्ष्य रखा गया है।

Input : Hindustan

Previous articleरिजल्ट को लेकर बिहार बोर्ड इंटर-मैट्रिक के छात्र हैं परेशान, आ रहे हैं ऐसे फोन
Next articleबेहोशी की दवा खिला छात्रा से रेप, मिल रही हत्या की धमकी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here