मुजफ्फरपुर जिले में उत्पाद विभाग टीम ने अलग-अलग जगहों पर कई धंधेबाज़ों की धर पकड़ और शराब बरामदगी को लेकर व्यापक पैमाने पर विशेष अभियान चलाया। शनिवार शाम से लेकर देर रात तक लगभग एक दर्जन जगहों पर अभियान चलाया गया। इस दौरान मिठनपुरा थाना के कन्हौली में एक लीची बगान से बहुत हीं भारी मात्रा में शराब बरामद की गई । यहाँ शराब को जमीन के अंदर गाड़कर रखा गया था।

कुदाल से जमीन खोदकर निकाला गया शराब की बोतले

उत्पाद विभाग के जवानों ने कुदाल से जमीन खोदकर शराब की लगभग 98 बोतलों को निकाला। वहां से शराब धंधेबाज़ सुनील राम को भी गिरफ्तार किया गया। उत्पाद इंसेक्टर कुमार अभिनव ने बताया कि शराब सुनील राम ने मंगवाई थी। जिसे जमीन में गारकर रखा था। वह होम डिलीवरी भी किया करता था। और ऑर्डर लेने के बाद जमीन के अंदर से शराब की बोतल निकालकर ग्राहकों को बेचता था। वह कहां से और किससे शराब खरीदता था। इसका पता भी लग चुका है। इसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है। सुनील राम के खिलाफ अभियोग दर्ज कर रविवार को जेल भेज दिया जाएगा।

मुशहरी इलाके में देसी शराब बनाने का धंधा

उत्पाद टीम ने मुशहरी इलाके में भी छापेमारी की। वहां देसी शराब की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया। मौके से 160 लीटर गुड़ मिश्रित तरल पदार्थ , देसी शराब बनाने की मशीन और चुलाई शराब, भी जब्त किया। जिसे टिम ने ध्वस्त कर दिया । साक्ष्य और जांच के लिए कुछ नमूने भी रख लिए गए। हालांकि वहां से किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी हैं । टीम के पहुंचते ही धंधेबाज़ मौके से फरार हो गए। उत्पाद इंस्पेक्टर ने बताया कि देशी शराब कौन बनाता है उसका नाम सामने आ गया है। उसकी तलाश में रेड की जा रही है ।

4 शराबियों को भी मौके से गिरफ्तार किया गया

मनियारी में टीम ने छापेमारी कर शराब के नशे में 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया। जिनकी पहचान परमानंद सहनी, लालू सहनी, आनन्दी सहनी और अवधेश के रूप में हुई है। इन्हें रविवार को जेल भेजा जाएगा। सिविल कोर्ट के अधिवक्ता सुशील कुमार ने बताया कि परमानंद सहनी हत्या का भी आरोपी है। वर्ष 2013 में अधिवक्ता राम कुमार ठाकुर की हत्या मनियारी में हुई थी। वे कोर्ट से घर लौट रहे थे। उसी दौरान रास्ते मे गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गयी थी। इसी मामले में परमानन्द को भी आरोपी बनाया गया था। लेकिन, उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई। हालांकि, मनियारी पुलिस ने अभी इससे अनभिज्ञता जताई है और जांच की बात कही गयी है।

Previous articleबिहार के बच्चों ने अखबार से बनाई 6 फीट की ईको फ्रेंडली सरस्वती प्रतिमा
Next articleदुर्लभ बीमारी से जूझ रहे गया के संदीप की अंतिम इच्छा पीएम मोदी से मुलाक़ात