एमएलसी दिनेश सिंह और पूर्व मंत्री मनोज के विरुद्ध बेशकीमती जमीन कौड़ी के भाव लीज लेने की शिकायत

188

कलमबाग चाैक स्थित जिला परिषद की अरबों रुपए की जमीन काे विधान पार्षद दिनेश प्रसाद सिंह, पूर्व मंत्री मनाेज कुमार सिंह (मनोज कुशवाहा), महुआ विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी रहे जगेश्वर राय के नाम लीज पर दिए जाने के मामले की उच्चस्तरीय जांच कराई जाएगी।

पंचायती राज विभाग के संयुक्त निदेशक ब्रजनंदन प्रसाद ने तिरहुत प्रमंडल के आयुक्त  काे पत्र लिखकर जांच कराने काे कहा है। विभाग ने आयुक्त  काे अपने मंतव्य के साथ शीघ्र जांच रिपोर्ट भेजने काे कहा है। RTI सह सामाजिक कार्यकर्ता देवेंद्र राय ने सीएम, मुख्य सचिव के साथ प्रधान सचिव, तत्कालीन आयुक्त नर्मदेश्वर लाल, पूर्व डीएम माे. साेहैल समेत अन्य से जिला परिषद की कलमबाग चाैक स्थित अरबों रुपए की जमीन काे आपराधिक षड्यंत्र रचकर लीज पर देने के मामले की जांच कराने की शिकायत की थी। उन्होंने इस मामले में जिला परिषद के अधिकारी व प्रतिनिधियों द्वारा पद का दुरुपयोग और धोखाधड़ी करते हुए जमीन की लीज करने की शिकायत की है। जिसमें कहा है कि पूर्व में आम लाेगाें काे जहां 6 से 10 रुपए प्रति वर्गफीट जमीन दी गई। वहीं, विधान पार्षद व पूर्व विधायक काे 30 पैसे प्रति वर्गफीट की दर से जमीन लीज पर दी गई। विभाग के संयुक्त निदेशक ने उक्त आरोप की प्रवृति काे गंभीर बताने के साथ प्रमंडलीय आयुक्त काे जांच के लिए प्राधिकृत करते हुए डीएम से जांच कराने काे कहा है। साथ ही कहा है कि जिला परिषद से संबंधित किसी अधिकारी से इसकी जांच न कराई जाए।

पंचायती राज विभाग के संयुक्त निदेशक ने प्रमंडलीय आयुक्त से जांच कर मंतव्य के साथ मांगी रिपोर्ट

शिकायती पत्र में देवेंद्र राय ने इन बिंदुओं पर जांच का किया है आग्रह

काफी कम दर पर लीज कराने के साथ दूसरे से अपने नाम एग्रीमेंट ट्रांसफर कराने की है शिकायत

दूसरे काे छह से दस रुपए वर्गफीट ताे विधान पार्षद दिनेश प्रसाद सिंह, पूर्व विधायक मनेाज कुमार सिंह व महुआ के पूर्व प्रत्याशी जगेश्वर राय के साथ ब्रजकिशोर सिंह तथा अनिल कुमार सिंह काे 30 पैसा प्रति वर्गफीट जमीन लीज देने का अाराेप है।

सामान्य लीज में ली गई जमीन काे दूसरे काे किराया तथा भाड़ा पर देने पर लीज रद्द हाेने की शर्त रखी गई है। लेकिन, विधान पार्षद, पूर्व मंत्री समेत ब्रजकिशोर सिंह व अनिल सिंह की लीज काे दूसरे के किराया व लीज पर देने की शर्त से अलग रखा गया है।

लीज में छूट देने से ब्रजकिशोर सिंह तथा अनिल कुमार सिंह ने फिर से 12 मई 2016 काे डीड संख्या 9255 से 36712 वर्ग फीट जमीन काे दिनेश प्रसाद सिंह, जगेश्वर राय तथा मनेाज कुमार सिंह के नाम पर लीज डीड बना दिया है।

जिला अभियंता अाले हुसैन ने देव नारायण चौधरी काे 630 वर्गफीट जमीन दस रुपए तथा बाद में 356 वर्गफीट 4 रुपए प्रति वर्गफीट की दर से डीड दस्तावेज बनाया है।

18 मई 2017 काे तत्कालीन जिला अभियंता अाले हुसैन द्वारा जिला परिषद की कमलबाग चाैक स्थित जमीन काे छह रुपए प्रति वर्गफीट की दर से 68 वर्गफीट गरीबनाथ शर्मा के नाम लीज डीड बनाने की शिकायत की है।

उन्होंने सभी लीज डीड के जिला निबंधन कार्यालय से कराने के बाद भी जिला निबंधन कार्यालय पर भी इस प्रकार की लीज डीड को अाॅनलाइन नहीं करने के लिए वेबसाइट पर नहीं डालने की शिकायत की है।

मामले की गंभीरता काे देखते अलग-अलग दर पर लीज डीड बनाने, लीज डीड की शर्त में बदलाव के साथ फिर से अपने नाम पर लीज कराने के मामले काे गंभीर वित्तीय अनियमितता बताया है।

तिरहुत प्रमंडल के आयुक्त पंकज कुमार ने कहा कि डीएम ने रिपोर्ट दी थी। सरकार की अाेर से जांच का निर्देश आया  है। मामले काे देख रहा हूं। शिकायत के अालाेक में जांच कराई जाएगी। जरूरत के मुताबिक डीएम अथवा अन्य वरीय पदाधिकारी ही जांच करेंगे। रिपोर्ट जल्द भेजी जाएगी।

जांच रिपोर्ट मांगी गई है, मामले काे देख रहा हूं : आयुक्त 

अपनी जान पर भी बताया खतरा

किसी प्रकार की अप्रिय घटना की असंका  जताते हुए देवेंद्र राय ने अपनी जान पर भी खतरा बताया है।

यह काेई नया मामला नहीं है। इस मामले में कई बार शिकायत की गई है। इस मामले में अपनी ओर  से काेई सफाई नहीं देनी है। हमने लीज पर जमीन जिला परिषद से ली है। संबंधित अधिकारी मामले में बिभाग काे अपना पक्ष देंगे। –दिनेश प्रसाद सिंह, विधान पार्षद

लीज पर जमीन ली, अफसर पक्ष रखेंगे : एमएलसी

हमलोगों की जमीन काफी पीछे स्थित है : कुशवाहा

अागे की जमीन की लीज अधिक कीमत पर हुई है। हमलाेग की जमीन काफी पीछे से है। लिहाजा, जिला परिषद ने कम कीमत पर हमलाेगाें काे लीज परजमीन दी है। – मनाेज कुमार सिंह (मनोज कुशवाहा), पूर्व मंत्री