बोले मंत्री सुरेश शर्मा- जनवरी से दिखने लगेगा स्मार्ट सिटी का काम, बदलेगी शहर की सूरत

140

नगर विकास व आवास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा ने कहा है कि शहर की सूरत बदलने के लिए 267 करोड़ की राशि आवंटित की गई है। लेकिन, काम की गति एवं गुणवत्ता असंतोषजनक है। वे अपने आवास पर शनिवार को संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर नगर निगम अपने स्वायत होने का बेजा फायदा उठा रहा है। अगर ऐसा नहीं तो शहर की सड़क तथा नाला निर्माण के बीच आने वाली पोल को शिफ्टिंग करने के लिए मिली राशि से युद्ध स्तर पर काम दिखता।

इतना ही नहीं नगर निगम की ओर से जिस सड़क, पोखर, नाला आदि का टेंडर हो गया वह भी काम नहीं हो रहा है। मंत्री ने कहा कि अब पानी सिर से उपर जा रहा है। सबके काम का मूल्यांकन हो रहा है। जो लोग विकास में बाधक बन रहे हैं उनको बर्खास्त किया जाएगा। फाइल पर कार्रवाई बहुत जल्द होगी। सड़क व नाला निर्माण के लिए एल एंड टी जैसी बड़ी एजेंसी को बुलाने की पहल हो रही है।

विकास में नहीं बने बाधक 

मंत्री शर्मा ने नगर की जनता विकास का लाभ ले। यानी जो भी विकास के काम हो रहे हैं उनकी निगरानी करे। विकास में कहीं बाधक नहीं बने। सड़क-गली-नल का जल सब आपलोगों के लिए है। कहीं पर गड़बड़ी हो तो उसकी सूचना दें, सख्त कार्रवाई होगी। विकास पर नेतागिरी करने वाले को सबक सिखाने की जरूरत है।

जंक्शन से अंडरपास होकर बस स्टैंड पहुंचेंगे यात्री 

– करीब 133 करोड़ की लागत से सरकारी बस स्टैंड बनेगा आधुनिक, जंक्शन से अंडरपास होकर बस स्टैंड पहुंचेंगे यात्री

– सात निश्चय से सभी वार्ड में दो-दो सड़कों का होगा निर्माण

– शुद्ध पेयजल के लिए 142 योजनाएं स्वीकृत हैं।

– पथ निर्माण विभाग 89 करोड़, ग्रामीण कार्य विभाग करीब 6 करोड़ व स्मार्ट सिटी मद से 172 करोड़ सड़क, नाला व अन्य निर्माण पर खर्च किया जाएगा।

Input : Dainik Jagran