मुज़फ़्फ़रपुर में मुख्य मंत्री नीतीश कुमार समेत कई अधिकारियों पर हुआ परिवाद दायर

118

मुज़फ़्फ़रपुर अपने कार्यप्रणाली की वजह से अक्सर चर्चा में बना रहता है. आपको बता दे कि मुज़फ़्फ़रपुर में बड़े बड़े सेलिब्रिटी, नेता पर केस दर्ज होता आया है. वही आज फिर बिहार के मुख्य मंत्री समेत कई अधिकारीयो पर मुज़फ़्फ़रपुर कोर्ट में परिवाद दायर हुआ है.

क्या है मामला

अधिवक्ता सुशील कुमार सिंह 14 दिसंबर को अपनी मोटरसाइकिल से अपने घर (अघोरिया बाजार) से सुबह करीब 10 बजे कचहरी के लिए निकले.मुख्य चौक पर पहुँचने के बाद देखा कि बड़ी गाड़ियों का प्रवेश निषेद के बावजूद ट्रैक्टर और ट्रक शहर की तरफ जा रहा था. जिसके कारण पूरा चौक जाम था.वही ट्रैफिक पुलिस चुप चाप खड़ी थी.

अधिवक्ता सुशील कुमार सिंह सुबह 10 बजे से करीब 12:30 बजे बजे तक जाम में फसे रहे. वही समय की बर्बादी एवं अपने मुवक्किल का कार्य बाधित होने से तनावग्रस्त हो गए और मूर्छित होकर गिर गए. वही अधिवक्ता सुशील कुमार सिंह को कोर्ट पहुँचते पहुँचते दोपहर का एक बज गया.जिस कारण वो अपने मुवक्किल के पैरवी में विलंब हो गए.

आपको बता दे कि अधिवक्ता सुशील कुमार सिंह ने नर्मदेश्वर लाल (आयुक्त तिरहुत प्रक्षेत्र), मो. सुहैल (जिलाधिकारी,मुज़), मनोज कुमार (वरीय पुलिस अधीक्षक,मुज़), नीतीश कुमार (मुख्य मंत्री,बिहार) एवं सुरेश शर्मा (नगर विधायक) पर परिवाद दायर किया है.