Home Muzaffarpur राज्य सरकार की अनदेखी से मुजफ्फरपुर एयरपोर्ट निर्माण में हो रही देरी...

राज्य सरकार की अनदेखी से मुजफ्फरपुर एयरपोर्ट निर्माण में हो रही देरी : अजय निषाद

18
0

बिहार में बड़ी मशक्कतों के बाद दरभंगा एयरपोर्ट से हवाई सेवा शुरू होने को है. लेकिन एक और एयरपोर्ट को लेकर बिहार सरकार और केन्द्र सरकार के बीच पेंच फंसा हुआ है. यह एयरपोर्ट बिहार की मिनी मुंबई कही जानेवाली सिटी मुजफ्फरपुर में एयरपोर्ट को लेकर मामला केन्द्र और राज्य सरकार के बीच फंस गया है. वही बीजेपी सांसद राज्य सरकार को ही एयरपोर्ट निर्माण में देरी का दोषी बता रहे हैं.

 

राज्य सरकार कर रही जमीन अधिग्रहण में देरी

मुजफ्फरपुर में एयरपोर्ट के निर्माण को लेकर करीब 243 एकड़ जमीन की जरुरत है. लेकिन अभी तक जमीन का अधिग्रहण नहीं हो सका है. वहीं मुजफ्फरपुर के सांसद अजय निषाद ने एयरपोर्ट के निर्माण में हो रही देरी के लिए बिहार की सरकार को दोषी बताया है. उन्होंने कहा कि इस निर्माण को कराने के लिए केन्द्र सरकार की ओर से किसी तरह की अड़चन नहीं है. इसमें राज्य सरकार को ही जमीन उपलब्ध करानी है. उन्होंने सरकार से एयरपोर्ट निर्माण के लिए जल्द से जल्द जमीन उपलब्ध कराने की मांग की है.

Pathai Airport, Muzaffarpur, Bihar

आपको बता दें कि मुजफ्फरपुर में  एयरपोर्ट तो है लेकिन वो न मात्र का है. इस एयरपोर्ट को इंदिरा गांधी के यहां आने को लेकर बनाया गया था.  हालांकि इसे लेकर हाल ही के दिनों में रिजनल कनेक्टिविटी से जोड़ने की ओर केन्द्र सरकार ने कदम बढ़ाएं हैं.  वही पताही एयरपोर्ट से फ्लाइट शुरू करने को लेकर भेजे पत्र का नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा की ओर से जवाब भी आया है. जिसमें उन्होंने व्यक्तिगत रूप से पताही एयरपोर्ट मामले के जल्द समाधान का आश्वासन दिया है.

हाल ही में पताही एयरपोर्ट को चालू करने के लिए नये सिरे से केंद्र सरकार के पास प्रस्ताव भेजने की कवायद शुरू हुई थी. वहीं एयरपोर्ट से सामान्य व व्यावसायिक विमान के उड़ान के लिए पटना एयरपोर्ट पर ट्रैफिक सर्वे भी किया गया था. पटना एयरपोर्ट से बोर्डिंग करने वाले यात्रियों का डाटा तैयार किया जा रहा है. इसमें से उत्तर बिहार के जिले मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, दरभंगा, समस्तीपुर, मधुबनी, पूर्वी व पश्चिमी चंपारण के यात्रियों का अलग-अलग डाटा बनया गया है.

Input : Live Cities

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here