Home Muzaffarpur सूचना पर शहीद खुदीराम बोस कारा में अफसरों ने शुरू की जांच...

सूचना पर शहीद खुदीराम बोस कारा में अफसरों ने शुरू की जांच तो पकड़ा गया होमगार्ड जवान

7
0
Jail Muzaffarpur

शहीद खुदीराम बोस केन्द्रीय कारा की सुरक्षा में सेंध लगाने वाला होमगार्ड जवान को बुधवार को दबोच लिया गया। दोपहर करीब 12 बजे जेल अधीक्षक ने तलाशी के दौरान होमागार्ड जवान अरविंद कुमार गौतम के झोले से दो मोबाइल, दो चार्जर, सौ से अधिक गुटखा व जर्दे की पुड़िया जब्त किया। सुरक्षा मानकों के उल्लंघन के आरोप में उसे गिरफ्तार कर मिठनपुरा पुलिस के हवाले कर दिया गया।

Jail Muzaffarpur

जेल अधीक्षक राजीव कुमार सिंह ने मिठनपुरा थाने में गिरफ्तार होमगार्ड जवान मोतीपुर निवासी अरविंद कुमार गौतम व अन्य के खिलाफ एफआईआर कराई है। फिलहाल मिठनपुरा थाने पर जवान से पूछताछ की जा रही है। गुरुवार को जवान को कोर्ट में पेश किया जाएगा। इसी क्रम में तीन अन्य होमगार्ड के जवानों को जेल ड्यूटी से जेल अधीक्षक ने हटा दिया है। वे अपनी ड्यूटी अवधि में अपने पोस्ट पर नहीं थे। होमगार्ड कमांडेंट को भी इस संबंध में कार्रवाई के लिए पत्र लिखा गया है।

मई 2018 से जेल सुरक्षा में प्रतिनियुक्त था अरविंद : जेल उपाधीक्षक सुनील कुमार मौर्य ने बताया कि होमगार्ड जवान को मोबाइल व गुटखे के साथ पकड़ा गया है। उसे मिठनपुरा पुलिस के हवाले कर एफआईआर करा दी गई है। मई 2018 को अरविंद की प्रतिनियुक्ति जेल सुरक्षा के लिए हुई थी। गुमटी नंबर पांच के वाच टावर पर इसकी तैनाती थी। दूसरी ओर होमगार्ड के प्रमंडलीय कमांडेंट जयंत कुमार ने कहा कि रिपोर्ट मिलने पर जवान के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उसे होमगार्ड से मिलने वाले तमाम भत्ते रोका जाएगा। ड्यूटी भी उसकी बंद कर दी जाएगी।

हिरासत में चौकेदार अरविन्द कुमार गौतम

जेल में मोबाइल होने की मिली थी सुचना 

जेल अधीक्षक राजीव कुमार सिंह और जेल उपाधीक्षक सुनील कुमार मौर्य को जेल परिसर में मोबाइल होने की सूचना मिली थी। इसके अलावा गुटखा व पान मशाला के खुलेआम बिक्री की भी जानकारी मिली थी। इस आलोक में बुधवार की दोपहर को जेल अधीक्षक, उपाधीक्ष्रक, सहायक जेलर व अन्य ने जेल परिसर में गोपनीय तरीके से निरीक्षण शुरू किया। होमगार्ड जवान अरविंद कुमार गौतम एक झोला लेकर अपनी ड्यूटी पर जा रहा था। जेल अधीक्षक को देखकर वह सकफका गया। जब उसके झोले की जांच की गई तो दो मोबाइल, दो चार्जर, 52 गुटखा, 56 जर्दे की पुड़िया मिलीं। उसे तुरंत हिरासत में ले लिया गया।

बंदियों के लिए ले जा रहा था मोबाइल और चार्जर 

मिठनपुरा थाने के पुलिस पदाधिकारी की मानें तो अरविंद ने प्रारंभिक पूछताछ में बताया कि दो बंदियों के लिए मोबाइल ले जा रहा था। उसके परिजनों ने उसे पहुंचाने के लिए मोबाइल दिये थे। हालांकि, अरविंद ने यह नहीं बताया कि किस बंदी का मोबाइल था। थानेदार विजय प्रसाद राय ने बताया कि जिस बंदी के लिए मोबाइल ले जा रहा था और जिसने मोबाइल भेजा था पुलिस उसके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई कार्रवाई करेगी।

मनचाहे दाम पर जेल में बिकता गुटखा

जेल के अंदर मोबाइल, मादक पदार्थ जैसे संवेदनशील पदार्थ पर प्रतिबंध है। लेकिन, जेल में बंद बंदी चोरी छिपे मादक पदार्थ का सेवन करते हैं। इसका फायदा उठाकर होमगार्ड जवान मनचाही दर पर गुटखा बेचते हैं। साथ ही अपने मोबाइल से बंदियों को उसके परिजन व अन्य से बात भी कराते हैं। पुलिस अरविन्द के मोबाइल की कॉल डिटेल रिपोर्ट निकालने में जुट गई है।

इनपुट : लाइव हिंदुस्तान 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here