Home National महज 1 घंटे में 1100Km का सफर पूरा कर लेगी ये खास...

महज 1 घंटे में 1100Km का सफर पूरा कर लेगी ये खास ट्रेन, इन दो राज्यों में चलाने की तैयारी

37
0

भारत में जल्द ही हाईपरलूप ट्रेन दौड़ती नजर आ सकती है। दुनिया में अभी कहीं भी ये ट्रेन नहीं है। भारत में दो राज्यों महाराष्ट्र और आंध्रप्रदेश में इसप्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। इस ट्रेन की खासियत ये होगी कि यह हवाई जहाज से भी फास्ट होगी। पुणे और मुंबई के बीच जहां अभी 3 से 4 घंटे सफर में लगते हैं, वहीं इसके बाद 25 मिनट में सफर पूरा हो सकेगा।

हाल ही में महाराष्ट्र में सरकार ने इसकी डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट (DPR) के लिए सजेशन और ऑब्जेक्शन बुलाए हैं। सरकार इसी साल इसकी टेस्टिंग करने की तैयारी में है। इन सबके बीच हम बता रहे हैं कि आखिर हाईपरलूप ट्रेन है क्या और क्यों यह इतनी फास्ट होगी।

क्या है हाईपरलूप ट्रेन
– यह ट्रेन चुंबकीय तकनीक से लैस पॉड (ट्रैक) पर चलेगी।
– हाईपरलूप तकनीक में खंभों के ऊपर (एलीवेटेड) ट्रांसपेरेंट ट्यूब बिछाई जाती है। इसके अंदर लंबी सिंगल बोगी हवा में तैरते हुए चलती है।
– इसमें घर्षण बिल्कुल नहीं होता। इसी के चलते इसकी स्पीड 1100 से 1200 किमी प्रति घंटे तक होती है। इसमें बिजली का खर्च भी बहुत कम होता है। इसमें पॉल्युशन भी बिल्कुल नहीं होता।

सफर में कितना लगेगा टाइम
– इसकी स्पीड हवाई जहाज से भी तेज बताई जा रही है।
– इसमें किराया साधारण ट्रेनों के जरिए ज्यादा होगा। इसका किराया हवाई सफर के बराबर हो सकता है।
– यह ट्रेन जापान में चलने वाली बुलेट ट्रेन से भी ज्यादा तेज होगी।

अभी इसे लेकर क्या चल रहा है
– महाराष्ट्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए अमेरिका के वर्जिन ग्रुप से करार किया है।
– महाराष्ट्र में इसके लिए ट्रैक बनाया जा रहा है। इसी साल इसकी टेस्टिंग होगी।
– हाईपरलूप ट्रांसपोर्टेशन टेक्नोलॉजी और वर्जिन हाईपरलूप इस प्रोजेक्ट पर आंध्रप्रदेश और महाराष्ट्र में काम कर रहे हैं। आंधप्रदेश में अनंतपुरा-अमरावती और विजयवाड़ा और विशाखापट्‌टनम इससे जुड़ेंगे। वहीं महाराष्ट्र में मुंबई-पुणे इसे जुड़ेंगे।
– हाईपरलूप ट्रांसपोर्ट को गति देने वाला एक ऐसा प्रोजेक्ट है, जिस पर कई कंपनियां रिसर्च कर रही हैं। इसके जरिए एक घंटे में 1126.54 किमी का सफर किया जा सकेगा।

Input: Dainik Bhaskar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here