रूस देगा भारत को कोरोना दवाई का 100 मिलियन खुराक, डील फाइनल

रूस कोरोना की स्पुतनिक-V वैक्सीन की 100 मिलियन खुराक भारत के लिये डॉ. रेड्डी कम्पनी के साथ बांटने के लिए तैयार हो गया है। … रशियन संस्थान आरडीआईएफ के सीईओ किरिल दमित्रिव ने बताया कि इसका ट्रायल सफल होता है तो यह वेक्सीन नवंबर तक भारत में उपलब्ध होगी, आरडीआईएफ की साथ ही चार अन्य भारतीय कंपनियों के साथ भी बातचीत चल रही है जो भारत में यह वैक्सीन बनाएंगी

कोरोना की वैक्सीन का इंतजार लगभग पूरी दुनिया अभी कर ही रही है जबकि रूस अपने नागरिकों को वैक्सीन की खुराक देने भी लगा है। हाल ही में दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन मानी जा रही ‘स्पुतनिक-वी’ के पहले बैच को रूस ने आम नागरिकों के लिए जारी किया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, अब रूस ने यह घोषणा की है कि वह 2020-2021 के भीतर एक बिलियन यानी 100 करोड़ से अधिक लोगों का टीकाकरण करेगा। समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने इंटरफैक्स समाचार एजेंसी का हवाला देते हुए यह जानकारी दी है। आइए जानते हैं इस वैक्सीन से जुड़े ताजा अपडेट्स…
विज्ञापन

रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष (आरडीआईएफ) ने पहले ही ब्राजील के बाहिया राज्य और विदेशों में कोरोना वैक्सीन के निर्यात के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इसके अलावा कजाकिस्तान के साथ भी एक समझौता हुआ है, जो शुरू में 20 लाख से अधिक वैक्सीन की खुराक खरीदने के लिए तैयार है और बाद में वह इसे 50 लाख तक बढ़ा सकता है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत में रूस की वैक्सीन की 300 मिलियन यानी 30 करोड़ खुराक का उत्पादन किया जाएगा। हालांकि सबसे बड़ी बात ये है कि इस वैक्सीन के तीसरे चरण का ट्रायल अभी हुआ ही नहीं है। इसी महीने से इसका ट्रायल भारत में शुरू होगा। रशियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड के सीईओ किरिल दिमित्रिव के मुताबिक, भारत समेत संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब, फिलीपींस और ब्राजील में इसी महीने से ट्रायल शुरू हो जाएगा।