बिहार राज्य शिक्षा वित्त निगम का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़ा एेलान करते हुए कहा कि जो छात्र शिक्षा लोन नहीं चुका सकते उनका लोन अब राज्य सरकार चुकाएगी। साथ ही छात्रवृत्ति योजना पहले की तरह ही लागू रहेगी।

सीएम नीतीश ने आज मुख्यमंत्री सचिवालय के संवाद कक्ष में आयोजित बिहार राज्य शिक्षा वित्त निगम का उद्घाटन करते हुए ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि राज्य शिक्षा वित्त निगम की स्थापना से राज्य के छात्रों को लाभ मिलेगा। साथ ही स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ स्टूडेंट्स को अब आसानी से मिल सकेगा। अब शिक्षा लोन बैंक नहीं, राज्य सरकार देगी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि राज्य में 1.25 करोड़ छात्रों को मिला साइकिल योजना का लाभ, साथ ही प्रतिदिन सवा करोड़ बच्चों को मिल रहा है मुफ्त भोजन। उन्होंने कहा कि छात्रों को कर्ज देने वाला गोवा के बाद बिहार बना पहला राज्य।

वहीं, शिक्षामंत्री कृष्णनंदन  कृष्णनंदन वर्मा ने कहा कि ‘आर्थिक हल युवाओं को बल’ सरकार की महत्वाकांक्षी योजना’ है। बैंकों के रवैये के चलते छात्रों को नहीं मिल रहा था लोन, शिक्षा वित्त निगम की स्थापना से अब नहीं होगी कठिनाई।

मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने शिक्षा वित्त निगम के उद्देश्य की जानकारी दी और कहा कि अब पैसे के अभाव में कोई छात्र उच्च शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा।

Input : Dainik Jagran

Previous articleमुजफ्फरपुर जंक्शन पर बनेंगे दो नए प्लेटफॉर्म
Next articleBRABU : पार्ट वन परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि बढ़ी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here