चैत्र नवरात्र में कैला देवी में भक्त लगाएंगे कोरोना से बचाव की गुहार

28

चैत्र नवरात्र 25 मार्च से शुरू होगा। चैत्र नवरात्र 10 दिन का समय शेष है। मां के दरबार में हाजिरी लगाने के लिए कई भक्त तो घरों से निकल भी पड़े हैं, जबकि अधिकांश भक्त बसौड़ा पूजन के बाद घरों से निकलेंगे। भक्त 230 किमी. की पदयात्रा सात से आठ दिन में पूरी करेंगे।

करौली में कैलादेवी का प्रसिद्ध मंदिर स्थित है। 25 मार्च से चैत्र नवरात्र शुरू हो रहे हैं। इस नवरात्र में आगरा और आसपास के जनपदों से देवी मां के भक्त करौली देवी के लिए पदयात्रा करते हैं। आगरा में हजारों ऐसे भक्त ऐसे हैं, जो सालों से पदयात्रा कर माता के दरबार में हाजिरी लगा रहे हैं। कमला नगर निवासी राजेश प्रसाद और बल्केश्वर निवासी अमित का कहना है कि वह पिछले 10 साल से निरंतर कैला देवी के दरबार में हाजिरी लगाने जाते हैं। इस बार कोरोना वायरस के कारण उनके कुछ साथियों में असमंजस था, लेकिन माता रानी की कृपा से अब वह भी जाने को तैयार हैं, क्योंकि कैला मइया के दरबार में सभी के दुख दर्द दूर होते हैं।

24 मार्च को निकलेगा भक्तों का जत्था
फतेहाबाद रोड स्थित एक होटल में रविवार को भक्तों को बसों से कैला देवी के दर्शन कराने के लिए वार्ता की गई। समाजसेवी अतुल तिवारी ने बताया कि पिछले आठ साल से भक्तों को कैला देवी दर्शन को ले जा रहे हैं। 24 मार्च को टीडीआई मॉल के पीछे स्थित होटल स्टार ऑफ ताज से बस निकलेगी। हजारों लोगों ने पंजीकरण कराए हैं। पिछली बार 26 बसों से दो हजार से अधिक लोगों को दर्शन कराया है। इस बार कैला देवी के दरबार में कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रार्थना की जाएगी। वार्ता के दौरान दिलीप तिवारी, विकास यादव, दुर्गेश यादव, देवेंद्र धाकरे आदि मौजूद रहे।

Input : Live Hindustan