टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत टी-20 वर्ल्ड कप के पहले से हीं खराब फॉर्म में चल रहे हैं। ऐसे में उनको टीम के प्लेयिंग इलेवन में जगह को लेकर पुरे देश में बवाल मचा हुआ हैं। लेकिन जब उनसे इस बात को लेकर पूछा गया। तो पंत अपने खराब प्रदर्शन को उम्र से ढकते नजर आए।

मैं अभी 24,25 वर्ष का हूँ : ऋषभ पंत

न्यूजीलैंड के खिलाफ क्राइस्टचर्च में हुए तीसरे वनडे मुकाबले से पहले हर्षा भोगले ने पन्त से पूछा की आपको देखकर लगता हैं की व्हाइट बॉल रिकॉर्ड इनकी खास होगी लेकिन आपका टेस्ट रिकॉर्ड तो शानदार हैं। इस पर पन्त भड़कते हुए कहा, ‘मेरे लिए रिकॉर्ड तो केवल संख्या हैं मेरा सफेद गेंद का भी रिकॉर्ड खराब नही हैं।’ जब भोगले ने कहा की मैं तो सिर्फ लाल और सफेद गेंद का तुलना कर रहा था। इस पर पन्त ने कहा, ‘तुलना मेरे करियर का हिस्सा नही हैं। मैं अभी 24,25 वर्ष का हूँ ।जब मैं 32 साल का हो जाऊंगा तब आप तुलना कर सकते हैं। इस वक्त तुलना करने का कोई फायदा नही हैं।’

मुझे टी-20 में ऊपर खेलना पसंद हैं : पंत

ऋषभ पंत ने बातचीत के दौरान आगे कहा, ‘मैं टी20 फार्मेट में ऊपर खेलना पसंद करता हूँ। और एकदिवसीय क्रिकेट में मैं नम्बर 4 या 5 पर खेलता हूँ। स्वाभाविक बात हैं की जब आप अलग-अलग पोजीसन पर बल्लेबाजी करने आते हैं तो गेम प्लान बदलते रहते हैं।’

कोच और कप्तान के अनुसार खेलना पड़ता हैं : ऋषभ पंत

टीम के कोच और कप्तान को लेकर पन्त ने कहा, ‘सबसे महत्पूर्ण यह हैं। की कप्तान और कोच आपके बारे में क्या सोचते हैं। उनके अनुसार आपका सर्वश्रेष्ठ पोजीसन क्या हैं। ये सबसे अहम हैं। मुझे जो मौका मिलेगा। उसमे मैं बेहतरीन क्रिकेट खेलने का कोशिश करूँगा।’

न्यूजीलैंड दौरे पर सिर्फ 42 रन बना पाए

बता दें की ऋषभ पंत इस वक्त खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। न्यूजीलैंड दौरे पर पंत का बल्ला बिलकुल खामोश रहा। टी-20 सीरीज में उन्होंने दो मैचों की दो पारियों में केवल 17 रन बना सके। वही, वनडे सीरीज के पहले मैच में 15 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। जबकि दूसरा वनडे बारिश के कारण रद्द हो गया और उनकी बल्लेबाजी नहीं आई। क्राइस्टचर्च में खेले गए तीसरे मैच में भी पंत बुरी तरह फ्लॉप रहे। उस मुकाबले में उन्होंने सिर्फ 10 ही बना पाए। उन्होंने इस पुरे दौरे पर मात्र 42 रन ही बना सके हैं।

पन्त को लेकर पुरे देश में मचा हुआ हैं बवाल

पन्त का खराब प्रदर्शन जारी हैं। ऐसे में कुछ भारतीय क्रिकेट फैन्स बीसीसीआई को निशाना बना रहे हैं। उनका कहना हैं की पन्त के लगातार फ्लॉप होने के बावजूद भी टीम के प्लेइंग इलेवन में जगह मिलते आ रहे हैं। जबकि संजू सैमसन के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद भी बाहर बैठाया जा रहा हैं। फैन्स के अलावा अब तो दुनिया के कई दिग्गजों में भी इस बात को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड पर पक्षपात का आरोप लगा चुके हैं।

Previous articleसीएम नितीश के सामने उपेंद्र कुशवाहा का ऐलान : बोले- मर जाऊंगा पर बीजेपी में कभी नहीं जाऊंगा
Next articleकुढ़नी में तेजस्वी यादव की चुनावी रैली में शिक्षक अभ्यर्थियों ने किया प्रदर्शन, सातवें चरण की बहाली निकालने की मांग