राजद ने जदयू से जोकीहाट की सीट छीन ली. इस सीट पर 12 वर्षों से जदयू का कब्जा था. 2005 से ही जोकीहाट सीट पर जदयू जीतता आ रहा था. लेकिन उपचुनाव में राजद ने वह सीट अपने नाम कर ली. यहां से नीतीश कुमार का किला ढह गया. राजद के शाहनवाज ने जोकीहाट सीट पर भारी जीत दर्ज की. शाहनवाज ने जदयू के मुर्शीद आलम को 41224 वोटों से हराया. इसके साथ ही जोकीहाट से लेकर पटना तक राजद जश्न में डूब गय है. शाहनवाज ने इसे लालूवाद की जीत बताया.

दरअसल उपचुनाव में जोकीहाट पर बिहार समेत पूरे देश की नजर थी. और उसी जोकीहाट उपचुनाव में एक बार फिर तेजस्वी यादव का परचम लहराया. राजद के शाहनवाज आलम ने वहां से जदयू के मुर्शीद आलम को हरा दिया. जदयू प्रत्याशी मुर्शीद आलम के खेमे में निराशा आ गयी है.

जोकीहाट से मिल रही जानकारी के अनुसार पहले राउंड में राजद ने 1200 से बढ़त बनायी थी. इसके बाद दूसरे से लेकर पांचवें राउंड तक एनडीए उम्मीदवार के रूप में जदयू के मुर्शीद आलम लगातार आगे बढ़ रहे थे. लेकिन छठे राउंड के बाद से राजद प्रत्याशी व तस्लीमुद्दीन के बेटे शाहनवाज आलम ने बढ़त बना ली और 24वें व अंतिम राउंड के बाद राजद ने निर्णायक बढ़त बना ली.

जानकारी के अनुसार 24वें राउंड के बाद जदयू के मुर्शीद आलम को 40016, राजद के शाहनवाज को 81240 मत पड़े हैं. इस तरह अंतिम राउंड के बाद राजद 41224 मतों से जीत गये. गौरतलब है कि जोकीहाट विधानसभा सीट से आरजेडी के दिवंगत नेता तस्लीमुद्दीन के बेटे सरफराज आलम जदयू के विधायक थे. सांसद तस्लीमुद्दीन की मौत के बाद मार्च में लोकसभा सीट अररिया के लिए उपचुनाव हुआ. चुनाव लड़ने के लिए सरफराज ने इस्तीफा दिया और जदयू छोड़कर आरजेडी में चले गए. चुनाव में उन्हें जीत मिली. इसके बाद जोकीहाट में उपचुनाव कराया गया. 28 मई को वोटिंग हुई. गुरुवार को काउंटिंग हो रही है.

Input : Live Cities

RJD, Jokihat, Bihar, Nitish Kumar

Previous articleसरकारी दावों में शराबबंदी, धंधे में रोज बुलंदी
Next articleबिहार में फिर आंधी-तूफान की चेतावनी, शाम 4 बजे तक के लिए अलर्ट जारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here