सोमवार को शहर में बस एक ही चर्चा थी एसएसपी विवेक कुमार निगरानी के शिकंजे में बुरे फंसे। छापेमारी की गतिविधियों की सही-गलत सूचनाएं सोशल मीडिया पर ट्वेंटी-20 के स्टाइल में दौड़ रही थी। ये पकड़ाया. वो पकड़ाया.। डायरी मिली है। कई माफियाओं के नाम हैं.। हालांकि हकीकत थी कि अंदर की सूचना गेट तक भी नहीं पहुंच पा रही थी। निगरानी टीम पूरे होमवर्क के साथ आई थी इसलिए पकड़ाने-धड़काने वाली बातों में कुछ सच्चई जरूर थी। और सच्चई का यही हिस्सा शहर के कुछ भूमाफियाओं और सफेदपोशों की नींद उड़ा रही थी।

Muzaffarpur, Muzaffarpur SSP, Vivek Kumar, Raid, Black Money, Vigilance Team, SSP House, Bihar

निगरानी इसीलिए जानी भी जाती है। जिस ढंग से निगरानी ने एसएसपी के बिहार और यूपी के ठिकानों पर एक साथ धावा बोला उससे यह तय माना जा रहा था कि यह कई महीनों के होमवर्क का नतीजा था। इस नतीजे में शीर्ष पर भले ही एसएसपी विवेक कुमार का नाम हो मगर यह फेहरिस्त बहुत लंबी है। सूत्रों की मानें तो निगरानी की टीम पिछले दो वर्षों में जमीन और शराब को लेकर जो हत्याएं हुई है उसका रिकार्ड खंगाल चुकी है। मुजफ्फरपुर के साथ ही वैशाली और मोतिहारी के भी कई डॉन के नाम सामने आ सकते हैं जो इस गठजोड़ में शामिल रहे हैं। खासकर शहर में ज्वेलर्स रोहित जैन, ठेकेदार अतुल शाही जैसे कई चर्चित हत्याकांड के पीछे जमीन कब्जा का मामला सामने आया था। इसके अलावा कई ऐसी घटनाएं हैं जिनमें भूमाफियों के कारनामे सामने आए थे।

निगरानी के आईजी और तेज-तर्रार अफसर रत्न संजय का इस जिले से पुराना नाता रहा है। इसलिए माना जा रहा है कि कई अंदर की जानकारियों उनके पास थी। उसे आधार बनाकर इन लोगों की घेराबंदी की जा रही है। भूमाफिया खुद सामने नहीं आकर भाड़े के अपराधियों के सहारे लोगों को डराते-धमकाते हैं और बाद में उनकी जमीन अपने नाम कराते हैं। छापेमारी के दौरान जमीन के कई कागजातों का मिलना और उसका निबंधन विभाग से मिलान करना कई संकेत दे रहे हैं। जमीन के धंधे में कई सफेदपोश लोग लगे हैं। कई ऐसे चर्चित चेहरे निगरानी की रडार पर हैं। उसके अलावा जिले के कई चर्चित थानेदार भी जांच एजेंसियों के निशाने पर हैं।

SSP, Vivek Kumar, Muzaffarpur, SUV, Raid

जिले में शराब माफिया करोड़ों में खेल रहे हैं। इसमें हर स्तर पर मिलीभगत जगजाहिर है। एसएसपी के यहां छापेमारी के बाद इन सभी माफियाओंकी हवाइयां उड़ने लगी हैं। जबर्दस्त चर्चा हेाती रही कि इसके बाद अब इसका नंबर है तो अब उसका नंबर है। कुर्ता-पायजामा वाले भी हैं तो जींस-टी शर्ट वाले भी।

मुजफ्फरपुर में हलचल

जिले में सक्रिय कई शराब और भूमाफिया हैं शक के दायरे में

पूरे होम वर्क के साथ काम कर रही है निगरानी की स्पेशल टीम

 

Input : Hindustan

 

Previous articleBREAKING : मुजफ्फरपुर SSP आवास पर SVU ने मंगवाई 3 हथकड़ियां, हो सकती है बड़ी गिरफ्तारी
Next articleशराब के साथ बालू व कोयला माफिया से एसएसपी की साठगांठ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here