रेल यात्रियों के लिए काम की खबर, ट्रेनों में बिल नहीं दें वेंडर तो भोजन फ्री

आइआरसीटीसी प्रबंधन की ओर से बार-बार निर्देश के बाद भी पैंट्रीकार से जुड़े वेंडर यात्रियों को बिल नहीं दे रहे हैं। इससे परेशान आइआरसीटीसी ने बिल नहीं देने पर भोजन फ्री में देने की घोषणा की है। इसको सभी ट्रेनों के कोच में चस्पा करने की योजना तैयार की गई है। इससे रेल यात्रियों के अच्छे दिन आनेवाले हैं।

दरअसल ट्रेन में यात्रियों को बिल नहीं देने की बार-बार मिल रही शिकायत से परेशान आइआरसीटीसी प्रबंधन ने नई नीति अपनाने का फैसला किया है। इसके तहत यदि कोई यात्री बिल नहीं मिलने के पर्याप्त साक्ष्य उपलब्ध कराता है, तो उसे फ्री में भोजन दिया जाएगा। इस योजना को लागू करने के पीछे प्रबंधन का उद्देश्य वेंडर पर बिल देने का दबाव बढ़ाना तथा यात्रियों को बिल मांगने के लिए जागरूक करना है। इससे आइआरसीटीसी को होने वाले राजस्व का नुकसान भी कम होगा।

ट्रेनों में बिलिंग व्यवस्था सुधारने के लिए आइआरसीटीसी ने पीओएस मशीन लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस, सप्तक्रांति एक्सप्रेस, वैशाली एक्सप्रेस समेत अन्य ट्रेनों में पीओएस मशीन उपलब्ध करा दी गई है। अब यात्रियों को जागरूक करने के लिए सभी बोगियों में हिंदी व अंग्रेजी में ‘बिल नहीं तो भोजन फ्री’ का स्लोगन चस्पा किया जा रहा है।

स्लोगन चस्पा किये जाने से यात्री जागरूक होंगे और वे वेंडर से बिल की मांग करेंगे। इससे अधिक राशि की वसूली पर भी लगाम लगेगा। यात्रियों को गुणवत्तायुक्त भोजन मिलेगा। इतना ही नहीं, पेंट्रीकार के वेंडर को मेनू चार्ट भी साथ रखने की हिदायत दी गई है। इसे देखकर यात्री यह पता कर सकते हैं कि उन्हें जो सामान दिए जा रहे हैं, उसकी कीमत क्या है?

इस संबंध में आइआरसीटीसी के क्षेत्रीय प्रबंधक राजेश कुमार ने कहा कि अब ‘बिल नहीं तो खाना फ्री’ व्यवस्था को लागू किया जा रहा है। इसमें यात्रियों को खाना के साथ ही डिजिटल बिल दिया जाएगा। यदि बिल नहीं मिलता है, तो भोजन फ्री में होगा। जागरूकता के लिए हिंदी व अंग्रेजी में स्लोगन चस्पा किया जाएगा। इसका उद्देश्य है कि पेंट्रीकार के वेंडर यात्रियों को बिल देने के लिए प्रेरित हों और यात्री भी वेंडर से बिल मांगें। वैसे आइआरसीटीसी का मेनू व रेट चार्ट इसकी वेबसाइट पर भी उपलब्ध है। यात्री इसे डाउनलोड कर अपने पास सुरक्षित रख सकते हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि पेंट्रीकार के अलावा ए वन एवं ए ग्रेड के स्टेशनों पर ही रेल नीर बेचना है। अगर यात्री के मांगने पर दुकानदार रेल नीर के बदले अन्य ब्रांड का पानी देता है तो यात्री इसकी शिकायत कर सकते हैं। उस पर भी कार्रवाई होगी।

Input : Dainik Jagran

2.1K Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
2.1K Shares