पटना : रविवार को जदयू मुख्यालय स्थित कर्पूरी सभागार में राज्य परिषद की बैठक के दौरान जेडीयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने बीजेपी मे शामिल होने को लेकर भ्रामक खबरों का खंडन किया हैं। उनहोने कहा की, “मैं कहीं नहीं जाने वाला हूँ। मैं मर जाऊंगा पर बीजेपी में नहीं जाऊंगा और न हीं मुझे बिहार में मंत्री बनना हैं।” इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी मौजूद थे।

आरक्षण की सीमा 50 प्रतिशत से बढ़ाने की मांग

बैठक के दौरान उपेंद्र कुशवाहा ने आरक्षण की सीमा 50 प्रतिशत से बढ़ाने की एक बार पुनः मांग करते हुए कहा की अब तो सुप्रीम कोर्ट ने भी इस पर मुहर लगा दी हैं। वहीं इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा की सलाह पर घोषणा की हैं कि पार्टी के सांगठनिक चुनाव पूरा होने के बाद हर सप्ताह वे पार्टी कार्यकर्ताओं से अकेले में भेंट करेंगे।

2024 में बीजेपी मुक्त भारत और 2025 में बीजेपी मुक्त बिहार : ललन सिंह

जदयू मुख्यालय मे राज्य परिषद की बैठक के दौरान जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा की ‘हम सभी उस दल में हैं, जिसे जो लोग वोट नहीं देना चाहते, वे भी हमारे नेता नीतीश कुमार के समर्थक हैं। 70 लाख सदस्य बनाने के लिए प्रदेश अध्यक्ष और उनकी पूरी टीम को बधाई देता हूं। हम सभी ने 2024 में बीजेपी मुक्त भारत और 2025 में बीजेपी मुक्त बिहार बनाने का संकल्प लिया हैं। हम सभी आपसी मतभेद से ऊपर उठकर अपने लक्ष्य को प्राप्त करेंगे, क्योंकि देश में मंहगाई और बेरोजगारी चरम पर हैं।’

Previous articleगणतंत्र दिवस के अवसर पर बिहार के 29 पुलिस जांबाजों को मिलेगा राष्ट्रपति पदक
Next articleअपने खराब प्रदर्शन को उम्र से ढकते नजर आए ऋषभ पंत, बोलो- मैं तो अभी 25 साल का हूँ