पिछले वर्ष बाढ़ से प्रभावित वार्ड नंबर 46 के लोग भीषण जलसंकट से जूझ रहे हैं. हालांकि वार्ड में लगे 11 में से सात खराब चापाकल को नगर निगम ने मरम्मत करा चालू करा दिया है. इससे लोगों को थोड़ी राहत मिली है, लेकिन गौशाला चौक पर सुधा डेयरी के पास सड़क को क्रॉस कर नयी व पुरानी पाइपलाइन को जोड़ने के लिए महज 25 फुट पाइपलाइन नहीं बिछाये जाने से वार्ड के करीब 300 परिवारों को भीषण गर्मी में पानी की समस्या झेलनी पड़ रही है.

रामबाग मुख्य रोड के अलावा खन्ना कपाउंड, मेहता कपाउंड, विद्यापति पथ, विद्यापति पथ दो और मालीघाट तक के कई मुहल्ले इससे प्रभावित हैं. इन मुहल्लों में करीब 15 से 20 हजार की आबादी रहती है. जैसे-जैसे गर्मी बढ़ती है, पानी की डिमांड बढ़ने से परेशानी भी बढ़ जाती है. स्थानीय लोगों के साथ पार्षद नंद कुमार साह उर्फ नंदू बाबू कई बार इसकी शिकायत नगर आयुक्त से लिखित रूप में कर चुके हैं, लेकिन इस पर नगर निगम कोई ध्यान नहीं दे रहा है.

रामबाग चौक नहर से खादी भंडार की ओर जानेवाली सड़क होते हुए कंचन नगर व चूनाभट्टी मुहल्ला में जनवरी 2017 में पाइपलाइन बिछायी गयी थी, लेकिन गुणवत्ता खराब होने से एक साल के अंदर ही पाइपलाइन में जगह-जगह लिकेज हो गया है.

वार्ड 46 में जलसंकट से जूझ रहे लोगों की समस्या के समाधान के लिए निगम को लगातार पत्र लिख रहे हैं. चापाकल की मरम्मत करायी गयी है, लेकिन नयी व पुरानी पाइपलाइन को एक-दूसरे से जोड़ने के लिए कोई कदम अभी तक नहीं उठाया गया है – नंद कुमार प्रसाद साह, पार्षद वार्ड नंबर 46

Input : Prabhat Khabar

Previous articleक्यूबा में उड़ान भरते ही विमान दुर्घटनाग्रस्त, 100 से ज्यादा लोगों की मौत
Next articleबाइकर्स ने महिला से तीन लाख के जेवरात से भरा पर्स झपटा ऑटो चालक गिरफ्तार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here